नियमों को तोड़कर ट्रम्प ने नेवादा में पहली इंडोर रैली की, 50 से ज्यादा लोगों के एक साथ जुटने पर पाबंदी के बावजूद हजारों लोग पहुंचे

2 महीने पूर्व 107
ARTICLE AD
Hindi NewsInternationalDonald Trump | US Presidential Election 2020 News Update; Donald Trump Holds Campaign Rally In Nevada

वॉशिंगटन8 घंटे पहले

कॉपी लिंकवीडियो
ट्रम्प ने देश में महामारी से होने वाली मौतों के बारे में कुछ नहीं कहा, जबकि देश में अब भी सैंकड़ों लोगों की इससे मौत हो रही हैरैली का बचाव करते हुए ट्रम्प कैंपेन के प्रवक्ता टिम मुर्टाग ने कहा- अगर हजारों लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर सकते हैं, तो रैली में क्यों नही आ सकते

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने नेवादा के एक मैनुफैक्चरिंग प्लांट में पहली इंडोर रैली की। यहां राज्य सरकार की ओर किसी भी इंडोर प्लेस पर 50 से ज्यादा लोगों के जुटने पर पाबंदी है। ट्रम्प ने राज्य के इस नियम को तोड़ा। रविवार रात हुई इस रैली में हजारों समर्थक पहुंचे। इनमें से ज्यादातर बिना फेस मास्क लगाए पहुंचे थे। रैली के आयोजन स्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने की कोशिश तक नजर नहीं आई। ट्रम्प कैंपेन के नारे लिखे टोपियां पहने समर्थक फोल्डिंग चेयर पर आसपास बैठे थे।

जिस एक्स्ट्रीम मैनुफैक्चरिंग प्लांट में रैली हुई उसकी वेबसाइट के मुताबिक, प्लांट में न तो मीटिंग करने की इजाजत दी जा रही है और न 10 से ज्यादा लोगों के जुटने की इजाजत है। रैली में शामिल होने के लिए प्लांट के अंदर जगह न मिलने पर कई लोग बाहर खड़े नजर आए। इनमें से कुछ तो ऐसे थे जो छोटे बच्चों को साथ लेकर पहुंचे थे।

ट्रम्प ने बाइडेन को घेरने की कोशिश कीअपने भाषण में ट्रम्प ने हमेशा की तरह पूर्व उप राष्ट्रपति जो बाइडेन पर हमला बोला। उनपर पुलिस के खिलाफ खतरनाक जंग छेड़ने का झूठा आरोप लगाया। ट्रम्प ने बाइडेन पर तंज कसते हुए कहा- उन्हें गोली मारी गई है और सभी इस बात को जानते हैं। इसे सुनते ही वहां मौजूद ट्रम्प समर्थकों की भीड़ उत्साहित होकर चिल्लाने लगी। इस बीच एक प्रदर्शनकारी ने ट्रम्प का भाषण रोकने की कोशिश भी की। इस पर वहां मौजूद लोगों ने ‘ऑल लाइव्स मैटर’ यानी कि सभी की जिंदगी मायने रखती है कि नारे लगाए।

लैटिनो वोटर्स को लुभाने की कोशिश

इस रैली से ट्रम्प ने नेवादा में रहने वाले लैटिन अमेरिकी देशों के लोगों (लैटिनो वोटर्स) को लुभाने की कोशिश की। पिछले चुनाव में ट्रम्प को नेवादा में सिर्फ 17% लैटिनो वोट मिले थे। वहीं, सीनेटर बर्नीं सैंडर्स को 50% वोट मिले थे। ट्रम्प ने दावा किया कि अगर विपक्षी पार्टी डेमोक्रेटिक का राष्ट्रपति चुना जाता है तो यह अमेरिका में रहने वाले स्पेन मूल के लोगों (हिस्पैनिक-अमेरिकंस) के लिए खतरनाक होगा।

ट्रम्प ने मेक्सिको के लोगों को‘रेपिस्ट्स’ और देश में ड्रग और अपराध को बढ़ावा देने वाला बताकर राजनीति शुरू की थी। हालांकि, रैली से पहले उन्होंने मैक्सिको समेत दूसरे लैटिन अमेरिकी देश के छोटे व्यापारियों के साथ राउंड टेबल मीटिंग की। रैली में उन्होंने कहा- कुछ कहते हैं हमें लैटिनो बुलाओ, कुछ कहते हैं हमे हिस्पैनिक बुलाओ। वहीं कुछ लोग कहते हैं कि चाहे जो मर्जी हो वो बुलाओ। हम तुम्हें प्यार करते हैं।

दो आउटडोर रैलियां स्थगित होने के बाद हुई यह रैली

यह इंडोर रैली दो आउटडोर रैलियां स्थगित होने के बाद की गई। इनमें से एक रेनो- टाहो एयरपोर्ट के हैंगर पर होने वाली थी। एयरपोर्ट अथॉरिटी के मुताबिक वहां पर 50 से ज्यादा लोगों के जुटने पर लगी पाबंदी की वजह से यह रैली टाली गई थी। इसके बाद पांच दूसरे जगहों पर रैली करवाने की कोशिश भी नाकाम रही। आउटडोर रैली के सभी जगहों को गवर्नर ने ब्लॉक कर दिया था। अंत में मैनुफैक्चरिंग प्लांट में इसे करने का फैसला किया गया। इस दौरान एक्स्ट्रा वेंटिलेशन का इंतजाम किया गया और दरवाजे खुले रखे गए।

ट्रम्प कैंपेन ने किया रैली का बचाव

रैली का बचाव करते हुए ट्रम्प कैंपेन के प्रवक्ता टिम मुर्टाग ने कहा- अगर हजारों लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर सकते हैं। कैसिनों में जुआ खेल सकते हैं। दंगों में छोटी दुकानों को जला सकते हैं तो आप अमेरिका के राष्ट्रपति को शांति से सुनने के लिए भी एकजुट हो सकते हैं। वहीं, डेमोक्रेट पार्टी ने ट्रम्प की इस रैली की आलोचना की। नेवाडा के गवर्नर और डेमोक्रेट नेता स्टीव सिसोलैक ने ट्वीट किया- यह नेवादा के हर इंसान का अपमान है जिसने सरकार के दिशा निर्देशों को माना। ट्रम्प ने अपने स्वार्थ के लिए अनगिनत लोगों की जान खतरे में डाली है। यह हाल के दिनों में हमारी ओर से महामारी को हराने के लिए उठाए गए कदमों को पीछे करने वाला है।

ट्रम्प की पिछली रैली के बाद कई लोग संक्रमित मिले थे

ट्रम्प ने इससे पहले 20 जून को टुलसा और ओकलाहोमा में रैली की थी तो स्टेडियम खाली रहा था, इसलिए उन्होंने रैली को मजेदार बनाने की कोशिश की। उन्होंने देश में महामारी से होने वाली मौतों के बारे में कुछ नहीं कहा, जबकि देश में अब भी सैंकड़ों लोगों की इससे मौत हो रही है। 13 अगस्त तक नेवादा में 73 हजार 648 मामले सामने आए थे और 1454 मौतें हुईं थी। ट्रम्प की टुलसा रैली के बाद स्वास्थ्य अधिकारियों ने इलाके में संक्रमण के मामलों में तेजी आने की बात कही थी। ये लोग रैली से लौटने के बाद पॉजिटिव मिले थे।

संपूर्ण लेख पढ़ें